Health Lifestyle

हल्दी वाली चाय पियें और स्वस्थ रहें || Health Benefits of Turmeric Tea

Health Benefits of Turmeric Tea

दोस्तों जैसा की हम सब जानते है, हल्दी हमारी सेहत के लिए अत्यंत लाभदायक होती है। हल्दी का प्रयोग हम खासतौर से सब्जी बनाने में करते है। और इसका बहुत सी औषधियां बनाने में भी इस्तेमाल किया जाता है। हल्दी का सेवन सुरक्षित और गुणकारी है क्योंकि हल्दी में केमिकल्स नहीं होते है। आज हम इस लेख के जरिये हल्दी के सेवन के लाभों के बारे में (Health Benefits of Turmeric Tea in Hindi) जानकारी प्राप्त करेंगे।

हल्दी क्या है? (What is Turmeric?)

दोस्तों भारतीय व्यंजन हल्दी के बिना अधूरे हैं। यह एक ऐसा मसाला है। जिसका उपयोग हम हर दिन अपने किचन में करते हैं। चाहे हम कोई भी सब्जी बनाएं हम हल्दी जरुर डालते हैं। यह केवल खाने का स्वाद ही नहीं बढ़ाता, यह हमारे स्वास्थ्य के लिए भी लाभदायक होता है। दोस्तों अगर आप सूखी हल्दी के बजाय कच्ची हल्दी का सेवन करते हैं। तो यह आपके शरीर के लिए और भी ज्यादा फायदेमंद होते हैं।

दोस्तों हल्दी में एन्टी इन्फ्लेमेटरी (Anti-inflammatory), एंटी बैक्टीरियल (Anti-bacterial), एंटी वायरस (Anti-virus), एंटी फंगल (Anti-fungal), एंटी ऑक्सीडेंट (Anti-oxidant) गुण होते हैं।

इसके साथ-साथ इसमें विटामिन सी (Vitamin C), विटामिन B6 (Vitamin B6), विटामिन ए (Vitamin A), जिंक (Zinc), पोटैशियम (Potassium),आयरन (Iron), कैल्शियम (Calcium) जैसे पोषक तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। हल्दी में करक्यूमिन (Curcumin) नामक एक्टिव कंपाउंड (Active Compound) पाया जाता है। जो हमारे इम्यून सिस्टम (Immune System) को मजबूत बनाए रखता है, और यह कंपाउंड गुणों से भरपूर होता है।

हल्दी के औषधीय गुण (Medicinal Properties of Turmeric)

हल्दी में निम्न प्रकार के औषधीय गुण पाए जाते है :-

  • हल्दी, एक प्रकार की पारंपरिक औषधि है जो एंटीसेप्टिक(Antiseptic), एंटी-इंफ्लेमेटरी (Anti-inflammatory) और एंटीऑक्सीडेंट (Antioxidant) गुणों से भरपूर है।
  • इसमें पाया जाने वाला करक्यूमिन (Curcumin) कैंसर (Cancer), हृदय रोग (Heart Disease), मधुमेह (Diabetes) और अल्जाइमर (Alzheimer’s) जैसी बीमारियों को रोकने में मदद करता है।
  • हल्दी के एंटीसेप्टिक (Antiseptic) गुण रक्त को शुद्ध करने और संक्रमण को रोकने में मदद करते हैं।
  • यह पेट की समस्याओं(Stomach Problems), मासिक धर्म के दर्द (Menstrual Pain) और गठिया (Arthritis) जैसी बीमारियों में भी फायदेमंद है।
  • हल्दी के सेवन से कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) और हाई ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) को नियंत्रित किया जा सकता है.
  • इसका उपयोग त्वचा के दाग-धब्बे, चकत्ते और मुंहासों के इलाज में भी किया जाता है।
  • हल्दी का सेवन एंटी-इंफ्लेमेटरी (Anti-inflammatory) गुणों को खत्म करके शरीर को संक्रमण से राहत दिलाने में मदद करता है।
  • इसके सेवन से मस्तिष्क की कार्यप्रणाली भी बेहतर होती है और दिल की सेहत भी बेहतर होती है।
  • गर्म दूध के साथ हल्दी का रस पीने से नींद की समस्या से राहत मिलती है।
  • यह पारंपरिक औषधि शरीर को स्वस्थ और शक्तिवर्धक बनाए रखती है और कई प्रकार की समस्याओं का इलाज करती है।

कच्ची हल्दी की चाय (Haldi Ki Chai) बनाने का तरीका (How to Make Raw Turmeric Tea)

Turmeric Tea बनाने के लिए सामग्री:

  1. पानी – 1 कप
  2. दूध – 2 कप
  3. हरी इलायची – 3
  4. कच्ची हल्दी / पीसी हुई हल्दी – 2 टेबल स्पून (कद्दूकस की हुई) ( 1/4 टेबल स्पून पीसी हुई हल्दी )
  5. चाय पत्ती – 1/4 टेबल स्पून
  6. हनी – 1 /4 चमच्च ( मीठे के लिए )

Turmeric Tea बनाने की विधि:

  • पानी उबालें: सबसे पहले, एक छोटे सॉस पैन में 1 कप पानी डालें और इसे मध्यम आंच पर उबालें।
  • फिर 2 कप दूध के डाले और उबाल आने दे।
  • दूध उबाले : जब दूध उबलने लगे, तब उसमें कद्दूकस की हुई ताजा हल्दी (या हल्दी पाउडर) और 3 इलायची डाले।
  • उबालें: दूध को 10-15 मिनट तक उबलने दें ताकि हल्दी और इलायची का पूरा रस दूध में मिल जाए।
  • चाय पत्ती डालें: उबालते समय उसमें 1/4 चम्मच चाय पत्ती डालें।
  • छान लें: 10-15 मिनट के बाद, चाय को छानकर कप में निकाल लें।
  • स्वादानुसार मिलाएं: इसमें शहद मिलाएं। शहद मिठास के लिए मिलाया जा सकता है।
  • अब आपकी ताज़ी और पौष्टिक हल्दी की चाय तैयार है। इसे गरमा-गरम पिएं और इसके फायदों का आनंद लें।

हल्दी और हल्दी की चाय से होने वाले फायदे – Health Benefits of Turmeric Tea in Hindi

हल्दी के सेवन से होने वाले फायदे (Benefits of Consuming Turmeric) निम्न प्रकार से है :-

1. खांसी और सर्दी से राहत दिलाता है (Relieves Cough & Cold) 

हल्दी की तासीर गर्म होती है। और इसमें एंटीवायरस (Antivirus) और एंटीबैक्टीरियल (Antibacterial) प्रॉपर्टीज (Properties) होती है। जिस वजह से सर्दी ,खांसी और जुकाम में राहत मिलती है, और अगर आप हल्दी वाली चाय (Turmeric Tea) का सेवन करते हैं। तो इससे आपकी इम्यूनिटी (Immunity) स्ट्रोंग होगी यानी आप जल्दी बीमार भी नहीं पड़ेंगे।

2. हड्डियों को मजबूत बनाए रखना (Keeping Bones Strong)

हल्दी में एंटीबायोटिक (Antibiotics) मौजूद होता है। और दूध में कैल्शियम (Calcium) भरपूर मात्रा में होता है। इसलिए किसी भी तरह की हड्डीयां (Bones) डैमेज हुए हो, या फिर फ्रैक्चर (Fracture) होने पर हल्दी वाली चाय (Turmeric Tea) पीने से जल्दी आराम मिलता है।

3. सूजन और दर्द में राहत दिलाए (Relieves Swelling and Pain)

दोस्तों जिन्हें गठिया (Arthritis) हो या कमर दर्द (Back Pain), जोड़ों में दर्द (Joint Pain) की शिकायत हो। वे हल्दी, मेथी दाना और सौंठ को बराबर मात्रा में ले। और इसका पाउडर बनाएं। यानी इससे अच्छी तरह से पीस ले और इस मिश्रण का सुबह शाम एक-एक चम्मच करके दूध या गर्म पानी या हल्दी वाली चाय (Turmeric Tea) के साथ सेवन करें। यह आपके लिए बहुत ही फायदेमंद होगा।

4. चोट लगने पर हल्दी के फायदे (Benefits of Turmeric in Case of Injury)

यदि किसी व्यक्ति को चोट लग जाती है। खून नहीं रुकता है। तो हल्दी का पाउडर लगाने से खून निकलना तुरंत बंद हो जाता है। क्योंकि हल्दी में एंटीक बायोटिक (Anti-biotic), एंटीसेप्टिक (Antiseptic) एवं एंटी इंफ्लेमेटरी (Anti-inflammatory) गुण होते हैं। जिससे घाव जल्दी भरने लगता है। इसके अलावा अगर किसी को अंदरूनी चोट लग जाती है। या फिर सूजन की समस्या हो तो, हल्दी वाली चाय (Haldi Chai) का सेवन करने से जल्द आराम मिलने लगता है।

5. त्वचा के लिए हल्दी के फायदे (Benefits of Turmeric for Skin)

अगर आपकी त्वचा पर दाद (Ringworm), खुजली (Itching) या फिर आपको पिंपल्स की प्रॉब्लम है। तो आप हल्दी और नीम की पत्तियों का लेप बनाकर फेस पर लगा लें। यह आपके लिए बहुत ही लाभदायक होगा।

6. स्किन होगी चमकदार (Skin will be Shiny)

इसके अलावा अगर आपका कलर डल है यानी आप डार्क कॉम्प्लेक्स (Dark Complexion) के हैं। आप गोरा (Fair) होना चाहते हैं, तो थोड़ी सी कच्ची हल्दी या फिर हल्दी का पाउडर ले। और उसमें थोड़ा सा दूध या शहद मिलाकर इसका पेस्ट बना ले। फिर इसे चेहरे पर लगाकर 15 से 20 मिनट तक छोड़ दे। फिर गुनगुने पानी से फेस को धो ले। इस तरह से आपकी त्वचा न सिर्फ गोरी होगी। बल्कि आपकी स्किन (Skin) में नेचुरल ग्लो (Natural Glow) आ जाएगा।

7. दंत रोग दूर करें (Cure Dental Disease)

अगर आपको दांतों (Teeth), मसूड़े (Gums) में दर्द (Pain) की शिकायत हो। या फिर कोई दंत रोग हो जैसे पायरिया (Pyorrhea) की समस्या हो। तो आप सरसों का तेल (Mustard Oil) और थोड़ी सी हल्दी मिलाकर अपने दांतों और मसूड़े (Teeth and Gums) में हल्के हाथों से मसाज करें। और फिर गुनगुने पानी से माउथवॉश (Mouthwash) कर ले।

8. मुंह की बदबू को दूर करें (Eliminate Bad Breath)

अगर आपके मुंह से बदबू आने की समस्या हो तो आप आधे गिलास गुनगुने पानी में एक चम्मच हल्दी मिलाए। और फिर इससे अच्छे से माउथवॉश (Mouthwash) कर ले। तो मुंह से बदबू आने की समस्या खत्म हो जाएगी।

9. लिवर डिटॉक्सिफाई करता है (Detoxifies the Liver)

दोस्तों यह हमारे लीवर (Liver) को भी डिटॉक्स (Detox) करने का काम करता है। हल्दी में करक्यूमिन (Curcumin) नामक कम्पाउंड (Compound) होता है। तो आप नियमित रूप से कच्ची हल्दी की चाय और शहद मिलाकर पिए। तो यह ड्रिंक (Drink) आपके शरीर से विषैला पदार्थ यानी Toxins को बाहर निकाल कर आपको सेहतमंद बनाए रखता है।

यह भी पढ़ें – Well Health Tips in Hindi Wellhealthorganic: अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए हैं

10. कैंसर से लड़ने में मददगार (Helpful in Fighting Cancer)

हल्दी को लैटि‍न नाम से करकुमा लौंगा (Curcuma Longa) भी कहा जाता है। रिसर्च के अनुसार हल्दी में करक्यूमिन (Curcumin) नामक तत्व भरपूर मात्रा में होता है। जो कैंसर (Cancer) के सेल्स (Cells) को बढ़ाने से रोकता है। अगर कैंसर (Cancer) की शुरुआती स्टेज हो तो, यह कैंसर (Cancer) ठीक करने में भी काफी हद तक सहायक होता है। इसलिए कच्ची हल्दी की चाय कैंसर (Cancer) के मरीजों के लिए रामबाण औषधि है।

11. मेमोरी स्ट्रोंग करने में सहायक (Helpful in Strengthening Memory)

अगर आपको मेमोरी लॉस (Memory Loss) की प्रॉब्लम हो गई है। तो खासकर यह प्रॉब्लम (Problem) बुजुर्गों (Elders) को होती है। तो आप नियमित रूप से हल्दी वाले पानी का सेवन करें। यह आपकी ब्रेन फंक्शंस (Brain Functions) को बेहतर बनाकर आपकी मेमोरी स्ट्रांग (Improving Your Brain Functions) कर देगा।

12. दिल को स्वस्थ रखता है (Keeps the Heart Healthy)

हल्दी हमारे दिल को स्वस्थ (Heart Healthy) रखने में भी लाभकारी होती है। यह हृदय (Heart) की मांसपेशियों (Muscles) को स्वस्थ रखती है। और साथ ही ब्लड सर्कुलेशन (Blood Circulation) को अच्छा बनाती है। इसलिए हल्दी वाला पानी का सेवन करने से ब्लड क्लॉट (Blood Clots) नहीं बनता है। इससे हमारा हृदय (Heart) बिल्कुल स्वस्थ रहता है। इसके साथ-साथ कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) को भी कंट्रोल (Control) में रखती है।

दोस्तों, खाने की हल्दी (Turmeric) से जुडी साइंस बेस्ड (Science Based) जानकारी आपको देने का प्रयास किया है। आशा करता हूँ यह जानकारी आपके लिए बेहद लाभदायक है।

लेखक : डॉ अनिल कुमार शर्मा (आयुर्वेदिक चिकित्सक)

Related posts
Health Lifestyle

Best Cooking Oil For Heart Health: हृदय स्वास्थ्य के लिए सर्वोत्तम खाना पकाने का तेल

Health Lifestyle

Jaggery with Incredible Health Benefits

Health Lifestyle

Morning Coffee Tips with No Side Effect in Hindi

Health Lifestyle

Deficiency of Vitamins: विटामिन सप्लीमेंट लेने का सही समय।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *